रात को दूध चुराकर पीते थे धीरूभाई, 1 आइसक्रीम के लिए दांव पर लगाई थी जान !

0
9413

4th कहानी @ जब यमन की करेंसी से चांदी निकाल 1 लाख रुपए कमा सबको कर दिया हैरान

– उन दिनों मेस में खाने की व्यवस्था देखने वाली टीम के मेंबर एलाद के मुताबिक, धीरूभाई यमन के दिनों से ही बेहतरीन बिजनेस माइंड के थे। उन्होंने यमन की उन दिनों की करंसी रियाल से भी फायदा कमाकर दिखा दिया था।
– 1950 दशक के शुरुआत में रियाल लगातार मार्केट से गायब हो रहा था। उसे गलाकर उसमें से चांदी निकालकर लंदन मेटल एक्सचेंज में बेचने की बात सामने आई।
– इसको लेकर अरब की ट्रेजरी के ऑफिसर्स ने ट्रेस किया तो पता चला कि इंडिया से आया एक क्लर्क धीरूभाई ऐसा कर रहे हैं। अधिकारी नोटिस लेकर पहुंचे। हालांकि, इस मामले में आगे कुछ नहीं हुआ।
– बतौर एलाद धीरूभाई ने देखा कि यमन में रियाल की बाजार में जितनी वैल्यू है उससे ज्यादा उसके अंदर चांदी लगी है। इसके बाद वो 3 महीने तक रियाल खरीदते.. उसमें से चांदी निकालते और लंदन बुलियान में ज्यादा रेट पर बेच देते। इससे उन्होंने 1 लाख रुपए से ज्यादा कमाई की थी।
1
2
3
4
5
6
7
8

LEAVE A REPLY