रात को दूध चुराकर पीते थे धीरूभाई, 1 आइसक्रीम के लिए दांव पर लगाई थी जान !

0
9500

6th कहानी @ जब सस्पेँड हो गए थे धीरूभाई.. फिर दोस्त ने बचाई थी नौकरी

– शाम 4:30 बजे तक धीरूभाई बेसे एंड कंपनी में काम करते थे। उसके बाद के समय में वो वहां की अरब और इंडियन कम्युनिटी के लोगों के साथ बैठकर बिजनेस और ट्रेडिंग सीखते थे।
– ट्रेडिंग और हिसाब-किताब का काम सीखने के लिए धीरूभाई ने कुछ महीने ऑफिस के बाद फ्री में भी काम किया था। इसके चलते एक बार धीरूभाई की जॉब जाते-जाते बची थी।
– जगानी के मुताबिक, ‘धीरू दादा और जमनादास दोनों बेस कंपनी में साथ काम करते थे। कंपनी को प्राइवेट ट्रेडिंग के बारे में पता चला तो कंपनी मैनेजमेंट ने दोनों को बुलाया और सस्पेंड कर दिया।’
– बाद में जमनादास ने सारी गलती की जिम्मेदारी खुद लेकर कंपनी से इस्तीफा दे दिया और धीरूभाई की नौकरी बच गई।
1
2
3
4
5
6
7
8

LEAVE A REPLY