बर्थडे के अगले दिन हुई थी इस सिंगर की डेथ, मुश्किल से गुजारा कर रही वाइफ

0
444

म्यूजिशियन और सिंगर आदेश श्रीवास्तव की आज दूसरी डेथ एनिवरर्सी हैं !म्यूजिशियन और सिंगर आदेश श्रीवास्तव की आज दूसरी डेथ एनिवरर्सी हैं। उनका निधन 5 सितंबर, 2015 को हुआ था। आपको बता दें कि आदेश का जन्म 4 सितंबर को हुआ था और उनकी मौत उनके जन्मदिन के अगले दिन हुई थी। आदेश ने बॉलीवुड की कई सुपरहिट फिल्मों में म्यूजिक दिया। वे सिर्फ संगीतकार ही नहीं बल्कि सिंगर भी थे। उनकी वाइफ विजेयता पंडित एक्ट्रेस रही हैं। आदेश के जाने के बाद विजेयता को अपना गुजारा करना मुश्किल हो रहा है। उनके दो बेटे हैं।

आदेश को मल्टीपल माइलोमा कैंसर था जो 2010 में डायग्नोस हुआ था। लंबे समय तक उनका इलाज चला। कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद वे काम में खुद को बिजी रखते थे। लेकिन अगस्त 2015 में उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई थी। कुछ दिन अस्पताल में एडमिट रहने के बाद उन्होंने 5 सितंबर को सुबह 5 बजे आखिरी सांस ली। बता दें कि उनके इलाज में अच्छा खासा पैसा खर्च हुआ। इलाज में पैसा खर्च होने के कारण आज उनकी वाइफ को गुजारा करना और बच्चों की पालना मुश्किल हो रहा है !

हाथों में गया जो कलसे मिली पॉपुलैरिटी
आदेश श्रीवास्तव का जन्म 4 सितंबर, 1966 को मध्य प्रदेश के जबलपुर में हुआ था। आदेश ने 100 से भी ज्यादा फिल्मों में संगीत दिया था। उनकी पत्नी विजेयता म्यूजिक कम्पोजर जोड़ीजतिनललितकी बहन हैं। विजेयता भी एक एक्ट्रेस रही हैं। आदेश को 1993 में फिल्मकन्यादानसे इंडस्ट्री में ब्रेक मिला था। इस फिल्म में लता मंगेशकर ने गाने गाए थे लेकिन किसी वजह से फिल्म रिलीज ही नहीं हो पाई थी। 1994 में आई फिल्मआओ प्यार करेंमें आदेश ने संगीत दिया था। इस फिल्म का गानाहाथों में आ गया जो कल..’ पॉपुलर हुआ था। इसी गाने से उन्हें बॉलीवुड में पहचान मिली थी। सुनील शेट्टी की फिल्मशस्त्रका गीतक्या अदा क्या जलवे तेरे पारोने भी आदेश के करियर को नए आयाम दिए थे। म्यूजिक बनाने के साथसाथ आदेश नेशावाशावाऔरशोनाशोनाजैसे गाने गाए थे।

विजयेता की भी माली हालात खराब
1990 में आदेश ने विजेयता पंडित से शादी की थी। 2015 में आदेश का कैंसर की वजह से निधन हो गया। विजयेता विधवा है और उनके दो बेटे हैं। उनकी माली हालात खराब है। पति के जानें के बाद उन्हें अपना खर्चा चलाने के लिए अपनी कार तक बेचनी पड़ी थी। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि कुछ लोगों ने आदेश से उधार लिया था जो अब लौटा नहीं रहे हैं। उनकी माली हालात ठीक नहीं है। वे अपने बेटों को अच्छे कॉलेज में पढ़ा भी नहीं पा रही है। बता दें कि विजयेता ने फिल्मलवस्टोरी‘ (1981) से डेब्यू किया था। इस फिल्म के हीरो कुमार गौरव से उनका अफेयर भी रहा, लेकिन ये रिश्ता ज्यादा नहीं चल पाया। विजयेता ने डायरेक्टर समीर मलकान से शादी की हालांकि, बाद में दोनों का तलाक हो गया।

भेजा था लीगल नोटिस
विजयेता पंडित ने कुछ महीने पहले मोती सागर (फिल्ममेकर रामानंद सागर के बेटे) को लीगल नोटिस भिजवाया था। विजयेता का कहना है कि 2015 में लोखंडवाला स्थित एक बंगले के लिए मोती सागर को 1.65 करोड़ रुपए की टोकन मनी दी गई थी। इसके बाद कुछ लेनदेन नहीं हुआ, लेकिन उन्होंने ये बंगला किसी और को बेच दिया है। इस कंडिशन में विजयेता अपना पैसा वापस चाहती थी। हालांकि, इस आरोप को झूठा बताते हुए मोती सागर का कहना था कि आदेश श्रीवास्तव ने ही उनसे 2.28 करोड़ रुपए उधार लिए थे

संध्या और सुलक्षणा 

आदेश की एक साली की हत्या, एक है पागल
बात 2012 की है। आदेश की साली यानी उनकी वाइफ विजेयता की बहन संध्या सिंह की लाश नवी मुंबई में उन्हीं के घर से 200 किमी दूर मिली थी। बता दें कि संध्या उस समय गायब हुई थीं जब वे दिसंबर 2012 को नवी मुंबई के एनआरआई कॉम्प्लेक्स स्थित अपने घर से कहीं जाने को निकली थीं। जनवरी 2013 में उनका शव उन्हीं के घर से 200 मीटर दूर पाया गया था। डीएनए टेस्ट से पुष्टि हुई थी कि शव संध्या सिंह का ही था। वहीं, उनकी बड़ी साली सुलक्षणा पंडित की हालत ठीक नहीं है। वे पागल है। बता दें कि संजीव कुमार ने उनके प्यार को ठुकरा दिया था तो वे डिप्रेशन में चली गई थीं। 47 साल की उम्र में जब संजीव कुमार की मौत हुई तो वे ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाईं और पागल हो गई थीं।

 

इन फिल्मों में दिया संगीत
आदेश ने फिल्ममस्ती‘ (1994), ‘आओ प्यार करें‘ (1994), ‘मेजर साहब‘ (1998), ‘बड़े दिलवाले‘ (1999), ‘इंटरनेशनल खिलाड़ी‘ (1999), ‘शिकारी‘ (2000), ‘फर्ज‘ (2001), ‘रहना है तेरे दिल में (2001), ‘कभी खुशी कभी गम‘ (2001), ‘आंखे‘ (2002), ‘बाबुल‘ (2006) सहित कई फिल्मों में संगीत दिया है। उन्होंने फिल्मराजनीति‘ (2010), ‘बाबुल‘ (2006), ‘देव‘ (2004), ‘बागवां‘ (2003), ‘वीरगति‘ (1995) सहित कई फिल्मों में गाने भी गाए हैं।

LEAVE A REPLY