300 से अधिक फिल्म कर चूका यह एक्टर, आज गरीबी में गुजार रहा हैं जिन्दगी..

0
676

बॉलीवुड में दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन से लेकर गोविंदा और शाहरुख़ खान के साथ काम कर चुके इस अभिनेता की कहानी कुछ ऐसी हैं जिसे जानकर आपको बहुत दुःख होगा |हम यहाँ बात कर रहे हैं सतीश कौल की | जिन्हें पंजाबी सिनेमा का अमिताभ बच्चन कहा जाता था | लेकिन आज वह फिल्मों से बिल्कुल गुम से हो गए हैं | सतीश किसी बीमारी के चलते पिछले तीन सालों से बिस्तर पर हैं | इस मुसीबत के समय उनका कोई साथ देना वाला भी नहीं |

सतीश कौल कभी हिंदी और पंजाबी फिल्मों का जाना पहचाना चेहरा हुआ करते थे | 1974 से 1998 तक सतीश ने 300 से अधिक फिल्मों में काम किया | सतीश को अपने ज़माने में बिना मांगे ही काम मिल जाता था हर डायरेक्टर उनके साथ काम करने को तैयार हो जाता था | लेकिन समय ने ऐसा मोड़ लिया कि आज कोई व्यक्ति उनका हालचाल तक नहीं पूछता हैं |

1998 में सतीश की आखिरी फिल्मप्यार तो होना ही थाइस फिल्म अजय देवगन और काजोल लीड रोल में थे | इस फिल्म के बाद उनकी पत्नी ने उनसे तलाक ले लिया | उनका बेटा भी उन्हें छोड़कर अमेरिका में जा बसा | इस सभी मुसीबतों के कारण वह तनाव में रहने लगे | उन्होंने फिल्मे करना बंद कर दिया | फिल्म इंडस्ट्री से दुरी बनाने के बाद इंडस्ट्री के लोगों ने भी उनका साथ छोड़ दिया |

लेकिन इसके बाद सतीश ने एक एक्टिंग स्कूल शुरू किया | यह स्कूल अधिक समय तक नहीं चला | और उनका सारा पैसा इसी में डूब गया | उनकी आर्थिक हालत बहुत ही ख़राब हो गयी | साल 2014 में वह बाथरूम में गिर गए, जिसके कारण उनको स्पाइनल फ्रैक्चर हो गया | आर्थिक हालत ख़राब होने के चलते सतीश के पास हॉस्पिटल के बिल चुकाने के पैसे नहीं थे |

मीडिया में खबर आने के बाद उनकी मदद लुधियाना के ऑर्गनाइजेशन ने की | और उन्होंने ही सतीश को ओल्डएज होम में भर्ती कराया | कुछ समय पहले फेमस पंजाबी सिंगर हरभजन सिंह उनसे मिलने आए थे जिन्हें देख वह फूटफूट कर रोने लगे !

कर्मा, आंटी नंबर वन, ऐलान जैसी हिट फिल्मे देने वाले आज सतीश यह कहकर चुप हो जाते हैं कि बढती उम्र और बीमारियों से खस्ताहाल हूँ आर्थिक तंगी से गुजर रहा हूँ बॉलीवुड के कई दिग्गजों के साथ काम करने वाले सतीश आज बिसरे बैठे हैं | वैसे यह बॉलीवुड के स्नाह का एक और दुसरे चेहरे को दर्शता हैं !

खबरों के मुताबिकसतीश जब अस्पताल में भर्ती थे तो एक कर्मचारी ने सतीश का ऑडियो मैसेज रिकॉर्ड कर सोशल साइट्स पर पोस्ट कर दिया। इसमें वो कह रहे थे कि उन्हें आज बहुत बुरा लग रहा है। वो हर वक्त मौत का रास्ता देख रहे हैं। न जानें किन पापों की सजा मिल रही है। उन्होंने यहां तक कहा था कि उनके साथ जो हुआवह किसी दुश्मन के साथ भी न हो ..

सतीश ने 1969 में पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) से ग्रैजुएशन किया है। बॉलीवुड स्टार जया बच्चनशत्रुघ्न सिन्हाजरीना वहाबडैन डेंजोंग्पा और आशा सचदेव उनके बैचमेट रहे हैं।

पत्नी और बेटे के साथ छोड़कर चले जाने से सतीश कौल डिप्रेशन में चले गए। ऐसे में उन्होंने खुद को सबसे अलग कर लिया और फिल्में करना भी बंद कर दीं। फिल्मी दुनिया से कटने के बाद इंडस्ट्री के दोस्तों ने भी उनका साथ छोड़ दियाजिससे सतीश कौल बिल्कुल अकेले पड़ गए।

जुलाई, 2014 में बाथरुम में फिसलने की वजह से सतीश को स्पाइनल फ्रैक्चर हो गया। इसकी वजह से उन्हें लंबे समय तक हॉस्पिटल में भर्ती रहना पड़ा। उनकी हालत ऐसी हो गई थी कि बिल चुकाने के भी पैसे नहीं थे। बाद में लुधियाना के ही एक सोशल ऑर्गनाइजेशन ने उनकी मदद की और उन्हें एक ओल्डएज होम में एडमिट कराया गया।

 

 

LEAVE A REPLY