एसिड अटैक की शिकार लड़की को बनाया जीवनसाथी, कहा चेहरा नहीं दिल देखा !

0
2433

कहते हैं इंसान का तन से ज्‍यादा मन से सुंदर होना जरूरी है। शायद आज यही वजह है कि कानपुर की एसिड अटैक पीड़िता शबीना दोबारा मुस्‍कुरा रही हैं। मुस्‍कुराएं भी क्‍यों न आखिर शबीना के सपने जो पूरे हो गए हैं। हाल ही में शमशाद नाम के एक शख्‍स ने उनके दिल की खूबसूरती को देख उनसे निकाह किया। साथ ही उन्‍हें जीवन भर खुश रखने का वादा किया है। आइए जानें शबीना के इस सफर के बारे में…

परिवार काफी खुश
जी हां कभी एसिड अटैक का दंश झेलने वाली शबीना के जीवन से सारी खुशिया काफूर सी हो गई थीं, लेकिन आज शमशाद ने उसके जीवन में फिर से खुशी भर दी हैं। शबीना के साथ उसका परिवार काफी खुश है। परिजनों का कहना है कि उन्‍होंने कभी नहीं सोचा था कि उनकी बेटी के सपने कभी पूरे होंगे। वहीं उसके पति शमशाद का कहना है कि आज शबीना देखने में भले ही खूबसूरत नहीं है लेकिन उसका दिल बहुत सुंदर है। उसने उसके चेहरे से नहीं बल्‍कि उसके गुणों से प्‍यार किया है। शबीना को जीवन साथी के रूप में पाकर वह काफी खुश है।

अच्‍छाइयों को देखा
शमशाद का शबीना के साथ यह दूसरा विवाह है। शमशाद का कहना है कि जब उसकी पहली बीवी उसके बच्‍चों को छोड़कर अपने प्रेमी के साथ भाग गई थी। उस वक्‍त शबीना ने उसके बच्‍चों की खूब देखभाल की थी। इस मौके पर उसे शबीना की अच्‍छाइयों को महसूस किया था। जिसके बाद उसने शबीना के सामने शादी का प्रस्‍ताव रखा। शबीना के परिजनों व सखी केंद्र नाम के एनजीओ ने उससे बात चीत की। यह वहीं एनजीओ जिसने एसिड अटैक के बाद उसकी मदद की थी। एनजीओं की परख पर सही उतरने के बाद उसने शबीना से निकाह किया।

LEAVE A REPLY